अक्षय कुमार की फिल्म ‘लक्ष्मी बम’ भी होगी डिजिटली रिलीज

laxmmi bomb akshay kumar

बॅालीवुड में लॅाकडाउन के कारण सिनेमा को काफी नुकसान झेलना पड़ रहा है। लॅाकडाउन की वजह से सिनेमाघरों में भी ताले लग गए है एसे में नुकसान से उबरने के लिए बॅालीवुड मे फिल्मों को डिजिटली रिलिज़ करनें का चलन चल पड़ा है। अब आप अक्षय कुमार की आने वाली नई फिल्म को ही देख लिजीए ईद 2020 पर सिनेमाघरों में रिलीज होनेवाली अक्षय कुमार की ‘लक्ष्मी बम’ अब डिजिटल पर रिलीज़ होगी। लॉकडाउन के कारण यह फिल्म सिनेमाघरों में रिलीज नहीं हो सकी और अब फिल्म के निर्माता फिल्म को डिजिटल रिलीज़ करने वाले हैं। आप को बतादें की अमिताभ बच्चन और आयुषमान खुराना की फिल्म ‘गुलाबो सीताबो’ भी डिजिटल रिलिज होगी, इस फिल्म का जल्द ही डिजिटल प्रीमियर होने वाला है। यह बताया जा रहा है कि अक्षय कुमार और कियारा आडवाणी की फिल्म ‘लक्ष्मी बम’ भी हॉटस्टार पर डिजिटली रिलीज़ होगी।

खबर यह है की पिंकविला की एक रिपोर्ट के अनुसार, अक्षय की लक्ष्मी बम फिल्म को डिजिटल रिलीज के लिए एक मोटी रकम पर बेचा गया है। एक ट्रेड एनालिस्ट ने इस खबर की पुष्टि की और यह कहा, ‘यह सच है कि फिल्म का अब हॉट स्टार पर प्रीमियर होगा। हालांकि, शुरुआत में थोड़ी असहमति थी, पर अब हर कोई तैयार है। उन्होनें कहा फिल्म अब ऑनलाइन रिलीज होगी।’
विश्लेषक ने आगे बताया कि कुछ प्रोडक्शन का काम अभी भी लक्ष्मी बम के लिए कुछ समय के लिए रोक दिया गया हैं, इसलिए यह अगले महीने में रिलीज नहीं होगी। रिपोर्ट उस आंकड़े को भी बताती है जिस पर इस फिल्म के डिजिटल राइट्स बेचे गए हैं। उन्होंने कहा, ‘आमतौर पर एक बड़ी फिल्म के डिजिटल राइट्स अधिकतम 60-70 करोड़ रुपये की रिकॉर्ड कीमतों पर बेचे जाते हैं, लेकिन चूंकि यह फिल्म रिलीज नहीं होगी और सीधे डिजिटल पर नजर आएगी, इसलिए उन्होंने इसके लिए एक बड़ी कीमत हासिल की है।

पहले यह फिल्म सलमान खान की फिल्म ‘राधे’ के साथ टकराने वाली थींl फिल्म लक्ष्मी बम को 125 करोड़ रुपये में बेचा गया है। डिजिटल रेट को देखते हुए यह संख्या बहुत बड़ी है, लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि यह बॉक्स ऑफिस पर 200 करोड़ से अधिक की कमाई करने की क्षमता रखती है। इसलिए कुल राजस्व जो टीम बनाएगी, वह बहुत कम है।’ लॉकडाउन के कारण कोई भी बॉलीवुड फिल्म सिनेमाघरों में नहीं रिलीज हो पा रही है। सभी फिल्मों के निर्माण पर काम रुक गया है। एसे में कुछ फिल्में जो तैयार थीं, वे भी सिनेमाघरों में नहीं रिलीज हो सकीं।