मिष्टी के करियर का टर्निंग प्वाइंट है बेगम जान, विद्या बालन और नसीर की फिल्म में दर्ज कराई अलग पहचान

Indrani Chakraborty mishti, filmbibo, begin jaan
इंद्राणी चक्रवर्ती को निर्माता-निर्देशक सुभाष घई ने मिष्टी नाम दिया है। (तस्वीर- इंद्राणी चक्रवर्ती के फेसबुक से)

2014 में  रिलीज फिल्म कांची से बॉलीवुड में एंट्री करने वाली मिष्टी को अभी हाल में ही आयी बेगम जान में एक सशक्त भूमिका में देखा गया। मिष्टी का असली नाम इन्द्राणी चक्रवर्ती है। सुभाष घई ने अपनी फिल्म में लेने के बाद उन्हें मिष्टी नाम दिया। कांची के बाद इन्होंने ग्रेट ग्रैंड मस्ती में भी अहम किरदार किया। लेकिन इन दोनों फिल्मों को ऑडिएंस ने नकार दिया। और क्रिटिक्स ने भी कोई सकारात्मक विचार नहीं दिया।

लेकिन श्रीजीत मुखर्जी के डायरेक्शन में बनी फिल्म बेगम जान में मिष्टी ने अपने दमदार अभिनय से सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर लिया। इस फिल्म में मिष्टी ने शबनम नाम की एक किशोरी की भूमिका की है। शबनम कुछ विषम परिस्थितियों में अनाथ हो जाती है। तब वह बेगम जान के कोठे पर पहुंचती है। बेगम जान की भूमिका विद्या बालन ने निभाई है।

ये कहानी 1947 में हुए भारत के विभाजन पर आधारित है। जब भारत से पाकिस्तान को अलग एक देश बनाया गया।इन दोनों देशो के बीच रेड क्लिफ लाइन खिंची जाती है। बेगम जान का कोठा दोनों देशों की विभाजन रेखा पर स्थित है। बेगम जान स्थानीय राजा की मदद से अपना कोठा बचाना चाहती है।

राजा मदद के बदले शबनम के साथ सम्बन्ध बनाने को कहता है। यहाँ राजा की भूमिका नसीरुद्दीन शाह ने की है जो की मिष्टी से उम्र में 38 साल बड़े है। बेगम जान उनकी शर्त मान लेती है और मिष्टी को भेज देती है। नसीरुद्दीन शाह के साथ मिष्टी के इंटिमेट दृश्य में उसके अभिनय की जितनी तारीफ हो कम है।

मिष्टी बॉलीवुड के साथ साथ बंगाली और तेलुगु फिल्म में भी काम किया है। वहाँ भी उनके अभिनय की प्रशंसा हुयी । इस साल मिष्टि तमिल और मलयालम फिल्म जगत में अपना डेब्यू करेंगी। अब देखना ये है कि मिष्टी अपने अभिनय के दम पे कौन सा मुकाम हासिल करती हैं।