FTII में घटी सीटों की संख्या, फॉर्म भरने की अंतिम तारीख 5 मार्च

ftii, ftii pune, filmbibo

देश के सबसे प्रतिष्ठित फिल्म और टेलीविजन संस्थान के प्रवेश परीक्षा के फॉर्म जारी हो चुके हैं। निर्देशन, सिनेमैटोग्राफी, एडिटिंग, साउंड डिजाइन और स्क्रिप्ट लेखन इत्यादि की पढ़ाई करने के इच्छुक छात्र पांच मार्च तक फॉर्म भर सकते हैं। छात्र संस्थान की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन भी आवेदन कर सकते हैं। संस्थान फिल्म और टेलीविजन दोनों के लिए अलग-अलग कोर्स चलाता है। फिल्म से जुड़े ज्यादातर कोर्सों की अवधि तीन साल और टीवी कोर्सों की एक-एक साल है। एक्टिंग कोर्स की अवधि दो साल है।

FTII में आवेदन के लिए यहाँ क्लिक करें-

एफटीटीआई ने इस साल फिल्म के सभी प्रमुख पाठ्यक्रमों में सीटों की संख्या पिछले साल के 12 से घटाकर 10 कर दी है। फिल्म निर्देशन, फिल्म संपादन, फिल्म सिनेमैटोग्राफी, फिल्म साउंड डिजाइनिंग और आर्ट डायरेक्शन एवं प्रोडक्शन डिजाइन के तीन वर्षीय पाठ्यकरमों में इस साल 10-10 सीटें हैं। एक्टिंग के दो वर्षीय पाठ्यक्रम में भी संस्थान 10 सीटों पर एडमिशन लेगा। एक वर्षीय फिल्म स्क्रिप्ट लेखन कोर्स में 12 सीटें हैं। संस्थान ने फॉर्म की कीमत बढ़ाकर 3500 रुपये कर दी है।

संस्थान की प्रवेश परीक्षा में 100 नंबर का रिटेन टेस्ट होगा। लिखित परीक्षा के अंकों के आधार पर छात्रों को ऑडिशन के लिए बुलाया जाएगा और चयनित छात्रों को इंटरव्यू और ओरियंटेशन के लिए बुलाया जाएगा। अंतिम चयन लिखित परीक्षा और इंटरव्यू दोनों के अंकों के आधार पर किया जाएगा। छात्रों का अंतिम चयन मेडिकल टेस्ट के बाद ही सुनिश्चित होगा। संस्थान की प्रवेश परीक्षा देश के सभी प्रमुख शहरों में होगी।

टीवी कोर्सों में निर्देशन, इलेक्ट्रॉनिक सिनेमैटोग्राफी, वीडियो एडिटिंग, साउंड रिकॉर्डिंग एवं टेलीविजन इंजीनियरिंग प्रत्येख एक वर्षीय पाठ्यक्रम है। टीवी के हर कोर्स में 10-10 सीटें हैं। फिल्म और टीवी दोनों पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए न्यूनतम योग्यता स्नातक है। साउंड से जुड़े कोर्स के लिए 12वीं तक फिजिक्स की शिक्षा जरूरी है। वहीं आर्ट डिजाइन कोर्स के लिए फाइन आर्ट या परफॉर्मिंग आर्ट संबंधित विषयों में स्नातक होना चाहिए।

1960 में पुणे स्थित प्रभात स्टूडियो के परिसर में स्थापित एफटीटीआई देश का पहला फिल्म संस्थान है। इस संस्थान से देश के कई नामी-गिरामी निर्देशक, संपादक, छायाकार और अभिनेता जुड़े रहे हैं। ऋत्विक घटक, मणि कौल, कुमार साहनी जैसे निर्देशक संस्थान में टीचर रहे हैं। वहीं जया भादुड़ी, मिथुन चक्रवर्ती, डैनी डोंगजप्पा, संजय लीला भंसाली, सुभाष घई, रेनु सलूजा जैसी फिल्मी हस्तियां इस संस्थान के छात्र रहे हैं।