मीनाक्षी शेषाद्री ने तोड़ दिया था राजकुमार संतोषी का दिल

80 से 90 का दशक हिंदी सिनेमा के लिए बहुत ही उतार-चढ़ाव वाला रहा. लेकिन इसी दौर में कुछ ऐसी भी फिल्में आईं जिन्होंने सिल्वर स्क्रीन पर अपनी ऐसी छाप छोड़ी कि वो फिल्में आज भी उसी तसव्वुर के साथ जिंदा हैं. उस दौर में सिनेमा के तकनीक और कार्यशैली में खासा बदलाव हो रहा था. ठीक उसी समय कुछ ऐसे सितारों भी पर्दे पर जगमगाए कि आज भीउनकी चमक वैसी ही बरकार है. ऐसी ही अभिनेत्री हैं मीनाक्षी शेषाद्री.

मीनाक्षी शेषाद्री ने ‘दामिनी’, ‘हीरो’ और ‘घातक’ जैसी फिल्मों में अभिनय करके ऐसा पैरामीटर सेट किया, जो आज के अभिनेत्रियों के लिए किसी बड़े चैलेंज से कम नहीं है. हालांकि कई लोग मीनाक्षी की सफलता के पीछे राजकुमार संतोष का बड़ा हाथ मानते हैं, पर यह सच नहीं है. मीनाक्षी एक बेहतरीन अभिनेत्री होने के साथ-साथ बेहतरीन डांसर भी थीं. उनके अभिनय में सबसे सशक्त पक्ष उनका नृत्य ही होता था.

मीनाक्षी शेषाद्री का जन्म 16 नवंबर, 1963 को झारखंड के सिंदरी में हुआ था. मीनाक्षी के बचपन का नाम शशिकला शेषाद्री था, जिसे बाद में राजकुमार संतोषी ने फिल्मों में आने के बाद बदल दिया. मीनाक्षी शेषाद्री के माता-पिता मूलत: तमिलनाडु से थे पर झारखंड में खनन उद्योग में काम करने के कारण मीनाक्षी के पिता को झारखंड में बसना पड़ा. उन्होंने बचपन में ही भारतनाट्यम सीखा था. मीनाक्षी शेषाद्री की पढ़ाई झारखंड और दिल्ली में हुई. पढ़ाई के दौरान ही साल 1981 में मीनाक्षी ने मिस इंडिया प्रतियोगिता में हिस्सा लिया और 17 साल की ही उम्र में भारत की सबसे कम उम्र की मिस इंडिया बनीं. जिसके बाद से मीनाक्षी के पास उसी उम्र में मॉडलिंग और फिल्मों के ढेरों ऑफर आने लगे.

मीनाक्षी ने फिल्मों में डेब्यू साल 1982 में किया, फिल्म का नाम था ‘पेंटर बाबू’”. लेकिन यह फिल्म दर्शकों पर कुछ खास असर नहीं छोड़ पाई. इसके अगले ही साल 1983 में निर्देशक सुभाष घई ने अपनी फिल्म में ‘हीरो’ में मीनाक्षी को लीड रोल दिया. यह फिल्म ब्लॉक बस्टर रही और इसने मीनाक्षी को फिल्म इंडस्ट्री में बतौर अभिनेत्री स्थापित कर दिया.

इसके बाद तो हिंदी सिनेमा में मीनाक्षी शेषाद्री सबसे प्रमुख नाम हो गईं. मीनाक्षी ने फिल्म ‘हीरो’ की सफलता के बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. “दामिनी” में बेहतरीन अभिनय के लिए उन्हें सबसे ज्यादा चर्चा मिली. इस फिल्म में उनके अभिनय ने साबित कर दिया कि बॉलिवुड में महिला प्रधान फिल्में भी चल सकती हैं.

उनकी कुछ अन्य सफल और हिट फिल्में हैं ‘घातक’, ‘आदमी खिलौना है’, ‘क्षत्रिय’, ‘अल्लाह रक्खा’, ‘साधना’. मीनाक्षी की आखिरी फिल्म साल 1996 में आई और फिल्म सुपरहिट रही. फिल्म का नाम था ‘घातक’, जिसके निर्देशक थे राजकुमार संतोषी. राजकुमार संतोषी ने एक समय अपनी अधिकतर फिल्मों में मीनाक्षी को ही हिरोइन के रूप में साइन किया जिसमें घायल, दामिनी, घातक जैसी सुपरहिट फिल्में शामिल थीं.

फिल्म इंडस्ट्री में मीनाक्षी शेषाद्रि का नाम डायरेक्टर राजकुमार संतोषी से जुड़ा था. कहा जाता है कि राजकुमार संतोषी मीनाक्षी से शादी करना चाहते थे लेकिन मीनाक्षी ने उनसे शादी करने से साफ मना कर दिया था. इसके अलावा फिल्म इंडस्ट्री में मीनाक्षी का नाम एक्टर जैकी श्रॉफ, अनिल कपूर और डायरेक्टर सुभाष घई के साथ भी जुड़ा था.

यही नहीं मीनाक्षी और कुमार सानू की अफेयर की खबरों ने फिल्म इंडस्ट्री में काफी सुर्खियां बटोरीं थीं. कहा जाता है कि मीनाक्षी शेषाद्रि और कुमार सानू एक-दूसरे के प्यार में पागल थे. इतना ही नहीं कुमार सानू पत्नी ने मीनाक्षी की वजह से ही सानू को तलाक दे दिया था और इस बात को उन्होंने मीडिया के सामने कूबला भी था कि वह मीनाक्षी के कारण अपने पति को छोड़ रही है.

इसके बाद मीनाक्षी ने हरीश मैसुर नामक एक बैंकर से शादी कर ली. आज उनका एक बेटा और बेटी है. मीनाक्षी शेषाद्री अपने परिवार के साथ इन दिनों टेक्सास में रहती हैं और वहां वह नृत्य भी सिखाती हैं. मीनाक्षी शेषाद्री को लोग जब भी उनकी फिल्में देखते हैं तो उनकी बेहतरीन अदाकारी और नृत्य क्षमता की वजह से याद करते हैं.