द साइलेंस ऑफ द लैंब्स के निर्देशक जोनाथन डेमे का निधन

Jonathan Demme, filmbibo, Silence of the Lambs

“द साइलेंस ऑफ द लैंब्स” के निर्देशक जोनाथन डेमे नहीं रहे। बुधवार (26 अप्रैल) को उनका अमेरिका के मैनहट्टन स्थित आवास पर 73 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। द हॉलीवुड रिपोर्टर को डेमे के पब्लिसिस्ट लेज्ले डार्ट ने बताया कि वो एसोफाजियल कैंसर से पीड़ित थे। 1991 में आयी द साइलेंस ऑफ द लैंब्स के लिए सर्वश्रेष्ठ डायरेक्टर का अकादमी अवार्ड (ऑस्कर) मिला था। जूडी फोस्टर और एंथनी हॉपकिंस के मुख्य भूमिका वाली साइलेंस ऑफ द लैंब्स को पाँच सबसे प्रतिष्ठित वर्गों में ऑस्कर मिला था। फिल्म को सर्वश्रेष्ठ फिल्म, सर्वश्रेष्ठ निर्देशक, सर्वश्रेष्ठ अभिनेता, सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री और सर्वश्रेष्ठ अडाप्टेड स्क्रीनप्ले के लिए ऑस्कर मिला था।

डेमे को सबसे ज्यादा साइलेंस ऑफ द लैंब्स के लिए भले ही याद किया जाये लेकिन अपने तीन दशक लंबे फिल्मी करियर में उन्होंने कई यादगार फिल्मी बनायीं। फिलाडेल्फिया, राचेल गेटिंग मैरिट और मंचूरियन कैंडिडेट (2004) जैसी फिल्मों के लिए दर्शक उन्हें हमेशा याद रखेंगे। डेमे फीचर फिल्म के अलावा म्यूजिक डाक्यूमेंट्री और वीडियोज भी बनाते रहे थे। “सन सिटी: आर्टिस्ट्स युनाइटेड अगेंस्ट अपार्थीड” के लिए उन्हें संयुक्त रूप से ग्रैमी अवार्ड के लिए नामित किया गया था।

डेमे का पूरा नाम रॉबर्ट जोनाथन डेमे था। उनका जन्म 22 फरवरी 1944 को न्यूयॉर्क में हुआ था। उनका बचपन मियामी में गुजरा। उनके पिता लेखक और पब्लिसिस्ट थे। डेमे का फिल्मों से पहला नाता कॉलेज में बना। वो यूनिवर्सिटी ऑफ फ्लोरिडा की पत्रिका के लिए रिव्यू लिखते थे। कॉलेज की पढ़ायी पूरी करने के बाद वो कोरल गैबल्स नामक पत्रिका के लिए मूवी रिव्यू लिखने लगे। उनके पिता ने उन्हें प्रोड्यूसर जोसेफ ई लेविन से मिलवाया जो एम्बैसी पिक्चर्स के संस्थापक थे। डेमे ने कुछ ही साल बाद लेविन के साथ काम करना शुरू कर दिया। इस दौरान वो फिल्म डेली और फ्यूजन के लिए क्रमशः सिनेमा और रॉक म्यूजिक रिव्यू लिखते रहे।

डेमे ने कुछ फिल्मों में लेखक के तौर पर काम करने के बाद  1974 में “केज्ड हीट” से अपनी निर्देशकीय पारी शुरू की। फिल्म की कहानी डेमे ने खुद लिखी थी। फिल्म में जेल में बंद महिला कैदियों की महिला जेलर के अमानवीय पाबंदियों के खिलाफ संघर्ष की कहानी है। उसके बाद अगले तीन दशकों में डेमे ने 18 फिल्में और 15 डाक्यूमेंट्री फिल्में डायरेक्ट कीं। उनकी आखिरी फिल्म रिक्की एंड द फ्लैश 2015 में आयी थी।