ऐ अजनबी तू भी कभी आवाज़ दे कहीं से…

90 के दशक में जवान हुए किसी भी शख्स के लिए उदित नारायण एक जाना पहचाना नाम हैं. साल 1988 में रिलीज हुई फिल्म ‘कयामत से कयामत तक’ में आमिर खान पर फिल्माए गए गीत ‘पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा’ को देखकर हर किशोर और नौजवान खुद को आमिर खान होने का वहम पालता था. कुल मिलाकर परिवार, स्कूल, दोस्तों की पार्टी और अन्य सामाजिक जगहों पर खासकर कस्बाई इलाकों के युवाओं को यह गीत गुनगुना कर अजब सा सुकून मिलता था.

90 के दशक में अपने गीत से सबको दिवाना बना लेने वाले उसी उदित नारायण का आज जन्मदिन है. 1 दिसंबर 1955 को बिहार के सुपौल जिले के बसई गांव में हरे किशना झा के घर पैदा हुए उदित नारायण झा. पिता साधारण किसान थे और मां भुवनेश्वरी देवी गृहणी. चूकिं सुपौल से नेपाल का तराई इलाका लगता था. इसलिए सुपौल के लोगों के लिए नेपाल दहलीज के पार दूसरे घर के तरह था.

उदित नारायण की शुरूआती शिक्षा नेपाल के राजबिराज के पीबी स्कूल से हुई. हाईस्कूल पास करने के बाद उदित ने आगे की पढ़ाई के लिए काठमांडू के रत्न राज्य लक्ष्मी कैंपस से इंटरमीडिएट किया. उदित को बचपन से ही गाने का शौक था. वो शुरू से ही स्कूलों में, मेलों में, मंदिरों में गाना गाते रहते थे.

उदित ने साल 1970 में रेडियो नेपाल में स्टाफ आर्टिस्ट की नौकरी शुरू की, वहां पर उदित नेपाली और मैथिली गीत गाते थे और यहीं से उदित को गीतकार बनने की राह मिली. लगभग 8 साल नेपाली रेडियो में नौकरी करने के बाद उदित को एक संगीत शिक्षा के लिए एक स्कॉलरशीप मिली. जिसके बूते उदित मुंबई पहुंचे. यहीं पर उन्होंने भारतीय विद्या भवन से संगीत की औपचारिक शिक्षा ली.

धीरे-धीरे उदित संगीतकार राजेश रोशन तक पहुंचे. जिन्होंने उदित को पहला ब्रेक भी दिया. फिल्म थी ‘उन्नीस बिस’. इसके बाद उदित नारायण को मोहम्मद रफी, किशोर कुमार और लता मंगेशकर के साथ गाने का मौका मिला. लेकिन उदित नारायण को बतौर सिंगर पहचान मिली फिल्म ‘कयामत से कयामत तक’ के गीत से. इस गीत के लिए उदित नारायण को पहला फिल्म फेयर अवॉर्ड भी मिला. उस वक़्त से आज तक उदित नारायण कुल मिलाकर 36 भाषाओं में 30,000 से भी ज्यादा गाने गा चुके हैं.

गायक उदित नारायण का विवादों से भी लंबा नाता रहा है. उदित ने बगैर तलाक दो शादियां की. उदित की पहली पत्नी का नाम रंजना नारायण है और दूसरी पत्नी का नाम दीपा नारायण है. उदित ने काफी समय तक रंजना नारायण के साथ हुई शादी की खबर छुपाए रखी और बिना किसी को बताए मुंबई में दीपा नारायण से शादी कर ली. लेकिन पहली पत्नी रंजना के दबाव और पुख्ता सबूत के आधार पर ने कोर्ट ने उदित नारायण को दोनों बीवियों को साथ रखने का आदेश दिया. उदित नारायण को एक बेटा है, जिसका नाम आदित्य नारायण है.

साल 2001 में उदित नारायण को नेपाल के राजा बिरेन्द्र बीर बिक्रम शाह देव ने प्रबल गोरखा दक्षिण बाहू के अवॉर्ड से सम्मानित किया था. साल 2009 में भारत सरकार ने उदित नारायण को पद्मश्री और साल 2016 में पद्म भुषण से सम्मानित किया. उदित नारायण ने साल 1990 और साल 2000 के बीच बहुत से बॉलीवुड स्टार्स के लिये गीत गाए.