बीसीसीसी का फैसला- ‘पहरेदार पिया की’ को बदलना होगा शो का टाइम

pahredaar piya ki, filmbibo
"पहरेदार पिया की" धारावाहिक में एक नौ वर्षीय बच्चे की शादी एक 18 वर्षीय लड़की से हो जाती है। (तस्वीर- सोनी टीवी)

ब्रॉडकॉस्टिंग कंटेंट कम्प्लेन काउंसिल (बीसीसीसी) ने सोनी चैनल को “पहरेदार पिया की” टीवी सीरियल को रात 10 बजे प्रसारित करने का आदेश दिया है। साथ ही धारावाहिक निर्माताओं को इसके साथ एक पट्टी भी चलानी पड़ेगी जिस पर लिखा रहेगा कि ये धाराव हाक बाल विवाह को बढ़ावा नहीं देता है। इस सीरियल पर दकियानुसी सोच और बाल विवाह को बढ़ावा देने के आरोप लगे थे। पिछले महीने शुरू हुए इस सीरियल की कहानी एक नौ वर्षीय बच्चे रतन और 18 वर्षीय लड़की दिया पर आधारित है। मुंबई मिरर के अनुसार बीसीसीसी को इस सीरियल के बारे में ढेरों शिकायतें मिल थी उसके बाद ही टीवी पर आने वाली सामग्री के नियमन के लिए बनी इस संस्था ने ये फैसला लिया। रात को नौ बजे प्रसारित होने वाले इस शो के खिलाफ ऑनलाइन याचिका सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को भेजी गयी थी जिसमें इस पर प्रतिबंध लगाने की माँग की गयी है। मिरर की रिपोर्ट के अनुसार मंत्रालय ने बीसीसीसी को इसके सीरियल के खिलाफ मिली शिकायत अग्रसारित कर दी थी। हालांकि सीरियल के निर्माताओं ने खुद पर लगे आरोपों से इनकार किया है।