कंगना रनौत ने दिया सैफ अली खान को जवाब, लिखा- रेस के घोड़े की तुलना एक्टर से!

Kangana Ranaut, Filmbibo
कंगना रनौत ने ओपेन लेटर लिखकर सैफ अली खान, करण जौहर और वरुण धवन को जवाब दिया है। (तस्वीर- फेसबुक)

कंगना रनौत इस जेनरेशन की बेस्ट एक्ट्रेस में एक हैं इस पर शायद ही किसी को डाउट होगा। लेकिन एक्टिंग उनका एकमात्र टैलेंट नहीं है। कंगना रनौत अपने साथ की हिरोइनों से एक और मामले में काफी आगे नजर आती हैं और वो है इनकी इंटेलिजेंसी। कंगना अपनी हाजिरजवाबी और बुद्धिमानी से अक्सर मीडिया और सोशल मीडिया पर वाहवाही लूटती हैं। ऐसे में जब बॉलीवुड के तीन लीडिंग मर्द उनका सबसे सामने मजाक उड़ाएं तो भला वो कैसे चुप रहतीं। ताजा मामला तब शुरू हुआ जब आईफा अवार्ड 2017 में करण जौहर, वरुण धवन और सैफ अली खान ने अवार्ड लेने के मौके पर कंगना रनौत का मजाक उड़ाते हुए कहा, “नेपोटिज्म रॉक्स” (परिवारवाद जिंदाबाद)।

आपको याद होगा करण जौहर के टीवी शो कॉफी विद करण में कंगना ने उन्हें परिवारवाद का अगुवा बताया था। उस इंटरव्यू के महीनों बाद मुंबई फिल्म जगत के इन तीन स्टार ने कंगना पर निशाना साधा। आपको बता दें कि करण जौहर के पिता यश जौहर फिल्म निर्माता थे। सैफ अली खान की माँ शर्मीला टैगौर फिल्म अभिनेत्री थीं और उनके पिता मंसूर अली खान पटौदी क्रिकेटर थे। वरुण धवन के पिता डेविड धवन फिल्म निर्माता और निर्देशक हैं। आईफा अवार्ड में करण जौहर, सैफ अली खान, वरुण धवन और आलिया भट्ट को अवार्ड मिले। आलिया भट्ट के पिता महेश भट्ट निर्माता निर्देशक हैं, उनके दादा भी फिल्म निर्माता थे और उनकी बहन पूजा भट्ट भी हिरोइन और फिल्म निर्माता हैं।

जब सोशल मीडिया पर करण, सैफ और वरुण के इस भद्दे मजाक की खिंचाई होने लगी तो सबसे पहले करण जौहर ने अपने बयान के लिए माफी मांगी। उन्होंने साफ किया कि उनका इरादा कंगना का मजाक उड़ाना नहीं था और नहीं परिवारवाद को जायज ठहराना। करण के बाद सैफ अली खान ने मीडिया में ओपेन लेटर लिखकर साफ किया कि आईफा अवार्ड की घटना केवल एक मजाक थी और उन्होंने कंगना से फोन करके माफी मांगी थी और उनके अलावा किसी और को सफाई देना वो जरूरी नहीं समझते। लेकिन सैफ ने अपन ओपेन लेटर में एक तरह से परिवारवाद को जायज और वैज्ञानिक ठहराने की भी कोशिश की।

सैफ का ओपेन लेटर पढ़कर कंगना भी चुप नहीं रह सकीं और उन्होंने उसके जवाब में ओपेन लेटर लिखकर अपना पक्ष रखा। जाहिर है कंगना ने अपने लेटर में न केवल सैफ की बचकानी बातों का जवाब दिया है बल्कि बहस का लेवल भी इतना ऊपर उठा दिया कि उसका जवाब देना शायद करण, सैफ या वरुण के वश की बात नहीं। कंगना ने सैफ अली खान के कुछ परिवारों के जीन में एक्टिंग होने और उस पर दांव लगाए जाने के कमेंट पर कड़ा एतराज जताते हुए पूछा है कि भला सैफ रेस के घोड़ों की तुलना एक्टरों से कैसे कर सकते हैं?

saif ali khan, karan johar, varun dhawan
IIFA 2017 अवार्ड में (बाएं से दाएं) वरुण धवन, सैफ अली खान और करण जौहर। (तस्वीर- फेसबुक)

कंगना ने सैफ को याद दिलाया है कि उन्होंने जीव विज्ञान की पढ़ाई की है और ऐसा कोई जीन अभी तक वैज्ञानिकों को नहीं मिला है जिससे महानता एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में जाती हो। सैफ ने अपने लेटर में यूजीनीज की बात की थी। यूजीनीज में खास नस्ल के जानवरों का उपयोग बेहतर जानवर पैदा करने के लिए किया जाता है। कंगना ने सैफ को याद दिलाया है कि भले ही मीडिया को अमीर और फेमस लोगों में रुचि हो लेकिन आम लोग ओमकारा के लंगड़ा त्यागी और क्वीन की रानी जैसे किरदारों को पसंद करते हैं जिनमें उन्हें अपनी छवि दिखती है।

कंगना ने सैफ, करण और वरुण को लताड़ते हुए लिखा है कि जिन लोगों को परिवारवाद का फायदा मिला होगा वो उसके साथ चैन से रह सकते हैं लेकिन तीसरी दुनिया के किसी देश में परिवारवाद की हिमायत करना बेहद नकारात्मक नजरिया है क्योंकि यहां लाखों लोग शिक्षा, रोटी, कपड़ा और मकान के लिए संघर्ष कर रहे हैं। कंगना ने अपने पत्र में केवल सैफ को आईना नहीं दिखाया है बल्कि मीडिया से भी अपील की है कि वो इस पूरे मामले को वो दो लोगों के वैचारिक मतभेद की तरफ पेश करे न कि निजी लड़ाई की तरह। कंगना ने ओपन लेटर में सैफ को अपना दोस्त बताया है।

कंगना रनौत का पूरा खुला पत्र आप यहाँ पढ़ सकते हैं।