श्रद्धांजलि: कुमकुम को गुरु दत्त ने दिया था पहला ब्रेक, बिहार के शेखपुरा में हुआ था जन्म

अभिनेत्री कुमकुम ने अपने करीब दो दशक लम्बे करियर में गुरु दत्त, दिलीप कुमार, किशोर कुमार, धर्मेंद्र, विनोद खन्ना इत्यादि सितारों के साथ काम किया।

अभिनेत्री कुमकुम का 86 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। कुमकुम ने 115 से ज्यादा फ़िल्मों में अभिनय किया था। कुमकुम का मूल नाम जैबुन्निशा था। उनका जन्म 22 अप्रैल 1934 को बिहार के शेखपुरा ज़िले में हुआ था। कुमकुम के पिता हुसैनाबाद के नवाब थे।

कुमकुम को हिन्दी फ़िल्मों में पहला ब्रेक गुरु दत्त ने आर पार (1954) के एक गाने ‘कभी आर कभी पार लागा तीरे नज़र’ में दिया था। इसके बाद कुमकुम प्यासा, सीआईडी, कोहिनूर, मिस्टर एक्स इन बॉम्बे, नया दौर, मदर इंडिया और आँखें इत्यादि फ़िल्मों में अभियन किया था।

कुमकुम ने पहली भोजपुरी फिल्म गंगा मैया तोहे पियरी चढ़इबे (1963) में भी अभिनय किया था।

कुमकुम प्रशिक्षित कथक नृत्यांगना थीं। कुमकुम ने शम्भू महाराज से कथक का प्रशिक्षण लिया था। कुमकुम द्वारा कोहिनूर (1960) में किया गया कथक बहुत लोकप्रिय हुआ। इस फिल्म में उनके हीरो थे दिलीप कुमार।

आर पार के नीचे दिये गए वीडियो लिंक पर जाकर मजदूर महिला के रोल में कुमकुम को देखा जा सकता है-

https://www.youtube.com/watch?v=DJFwNErOujc 

उनकी आखिरी फ़िल्म ‘एक कुँआरी एक कुँआरा’ थी जो 1973 में रिलीज हुई थी। शादी के बाद कुमकुम ने फ़िल्मों में काम करना बन्द कर दिया था।