मिस इंडिया फाइनलिस्ट ऐश्वर्या श्योराण ने UPSC 2019 में हासिल किया 93 रैंक, सोशल मीडिया पर वायरल हुई मॉडलिंग की तस्वीरें

एक आर्मी ऑफिसर की बेटी और एक मॉडल, ऐश्वर्या श्योराण ने सुंदर महिलाओं के खिलाफ एक स्टीरियोटाइप को तोड़ा हैं, उन्होंने UPSC CSE को क्रैक कर 93 वीं रैंक हासिल की है। 23 वर्षीय ऐश्वर्या श्योराण ने अपने पहले प्रयास में सिविल सेवा परीक्षा 2019 को क्रैक किया है। 18 साल की उम्र में, वह फेमिना मिस इंडिया 2016 की फाइनलिस्ट थीं और 2016 में कैंपस प्रिंसेस दिल्ली का खिताब जीत चुकी हैं।

ऐश्वर्या देश के टॉप कॉलेज श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स की पूर्व छात्रा थीं। बतांदे की कई आईएएस अधिकारी ‘सुंदर महिलाओं के खिलाफ’ रूढ़िवादिता को तोड़ने के लिए उनकी प्रशंसा कर रहे हैं। चार अगस्त को संघ लोक सेवा आयोग ने सिविल परीक्षा 2019 के परिणाम घोषित कर दिए थे।

मीडिया से बातचीत में उन्होंने बताया, – मैं हमेशा से एक सिविल सर्वेंट बनना चाहता थी। मैंने मॉडलिंग एक शौक के रूप में की। उस उम्र में, मैं बहुत सी चीजों का पता लगाना चाहता था। मैं अपने स्कूल में हेड गर्ल थी और कॉलेज में भी, मैं डिबेट सोसाइटी की एक सक्रिय सदस्य थी और समाज सेवा में भाग लेती थी।”

aishwarya-sheoran upsc 2019ऐश्वर्य श्योराण ने मीडिया को बताया कि “सौंदर्य प्रतियोगिता में, मुझे मनीष मल्होत्रा ​​जैसे प्रमुख डिजाइनरों ने मुझे फैशन शो में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया। एक बार जब मैं दिल्ली लौटी, तो मेरे पास ऑफर की भरमार थी। रैंप पर चलने का रोमांच साल-डेढ़ साल तक बना रहा लेकिन मैं अपने पहले प्यार – शिक्षा के पास लौटना चाहती थी।”

श्योराण ने आगे बताया की चूंकि उनकी मां हरियाणा से हैं, इसलिए खाप पंचायत पर सवाल, व्यक्तित्व के दौर में महिलाओं के मुद्दे पर मुझसे सवाल पूछे गए। पैनल मूल रूप से आपके दृष्टिकोण, ज्ञान और उस तरह के व्यक्ति का परीक्षण करता है जो आप हैं। उन्होनें बताया की इंटरवीयू वाले दिन, डोनाल्ड ट्रम्प भारत आए थे। इसलिए मुझसे राष्ट्रीय अवसंरचना पाइपलाइन आदि पर यूएस-भारत संबंधों और व्यापार सौदे के बारे में पूछा गया, उन्होंने पूछा कि नीति तैयार करते समय मेरा ध्यान क्या होगा।

हालांकि ऐश्वर्या का कहना है कि यूपीएससी में सफल होना उनका एक सपना था, जिसे उन्होंने अब पूरा किया है। ऐश्वर्या ने बताया कि इसके लिए उन्होंने कोई ट्यूशन या कोचिंग नहीं लिया था। ऐश्वर्या हमेशा से पढ़ाई में अच्छी थी और उन्होंने ब्रेक लेकर इसे यूपीएससी की तैयारी करने का मन बनाया।