जन्मदिन विशेष: नीतू सिंह, आकर्षक व अविस्मरणीय अभिनेत्री

neetu singh and rishi kapoor
नीतू कपूर और ऋषि कपूर फ़िल्म अमर अकबर अंथोनि में।

अपनी खूबसूरती से सबको दीवाना बनाने वाली हिंदी सिनेमा जगत की एक्ट्रेस नीतू सिंह का आज 62 वां जन्मदिन है। नीतू सिंह की मां राजी सिंह हीरोइन बनने के लिए मुंबई आई थी लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद कोई फिल्म नहीं मिली, तब बेटी को फिल्मों में लाने की ठान ली परिणामस्वरूप 8 साल की नीतू कपूर ने बतौर बाल कलाकार 1966 में आई फिल्म ‘सूरज’ से बॉलीवुड में एंट्री की जिसमें उन्होंने राजेंद्र कुमार की बहन की भूमिका निभाई।


इसके अलावा ‘दस लाख में रूपा’, ‘दो कलियों में’, ‘वारिस’ और ‘पवित्र पापी’ जैसी कई फिल्में की। फिल्म ‘दो कलियों में’ नीतू सिंह ने जुड़वाँ बहनों का डबल रोल निभाया, जो अपने झगड़ालू माता-पिता के बीच सामंजस्य स्थापित करती हुई नज़र आती हैं।


बेबी सोनिया के नाम से बाल कलाकार के रूप में चर्चित नीतू सिंह का असली नाम हरनीत कौर सिंह है। 1973 में बनी फिल्म ‘रिक्शावाला’ में नीतू सिंह ने रणधीर कपूर के अपोजिट काम किया तब उनकी उम्र महज 15 साल थी हालांकि फिल्म बॉक्स आफिस पर बुरी तरह से पीट गयी लेकिन साल 1973 में ही आई ‘यादों की बारात’ फिल्म के गीत ‘लेकर हम दीवाना दिल’ के डांस ने नीतू कपूर को स्टार बना दिया। यही वजह थी कि अगले एक दशक तक नीतू सिंह ने 50 फिल्में की जिसमें अपने प्रेमी और बाद में पति बने ऋषि कपूर के साथ 12 फिल्मों में काम किया, इनमें खेल खेल में (1975), रफ़ू चक्कर (1975), कभी कभी (1976), अमर अकबर एंथनी (1977), दुनिया मेरी जेब में (1979) और पति पत्नी और वो (1978) बॉक्स ऑफिस पर सफल रही हालांकि जहरीला इंसान (1974), जिन्दा दिल (1975), दूसरा आदमी (1977), अनजाने में (1978), झूठा कहीं का (1979) और धन दौलत (1980) फिल्में फ्लॉप हो गयी ।

नीतू सिंह ने अमिताभ बच्चन ( अदालत, परवरिश, द ग्रेट गैम्बलर, याराना ), राजेश खन्ना ( चक्रव्यूह ), विनोद खन्ना ( युवराज ),शत्रुघ्न सिन्हा ( काला पत्थर ), जीतेंद्र ( धरमवीर, प्रियतम ) रणधीर कपूर (कसम वादे, जाने जान ) जैसे हिंदी सिनेमा के बड़े अभिनेताओं के साथ फिल्में की । बॉलीवुड में स्थापित करने के लिए बेहद संघर्ष करने वाली मां के साथ नीतू ने ‘लालपरी’और ‘रानी’ फिल्मों में काम किया जिसमें मां राजी सिंह ने रील लाइफ मां का किरदार निभाया था।

फिल्मों में साथ काम करते करते नीतू सिंह और ऋषि कपूर एक दूसरे के करीब आये और डेट करने लगें, हालांकि ये बात मां राजी सिंह को पसन्द नहीं थी बावजूद 22 जनवरी 1980 को दोनों ने शादी कर ली। शादी के बाद बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेस में से एक नीतू सिंह ने 25 साल की आयु में फिल्मी करियर को पूरी तरह से अलविदा कह दिया। 26 वर्षों के लंबे अंतराल के बाद इम्तियाज अली की फिल्म लव आजकल(2009) से फिल्मों में वापसी की। नीतू सिंह की दूसरी फिल्म 2010 में अरिंदम चौधरी द्वारा निर्देशित पारिवारिक कॉमेडी-ड्रामा ‘दो दूनी चार’ (2010) आई जिसे 58वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में बेस्ट हिंदी फीचर फिल्म का अवार्ड मिला ।

2013 में नीतू सिंह अपने बेटे रणबीर कपूर की फिल्म ‘बेशरम'(2013) में नजर आई थी। तीनों फिल्मों में नीतू कपूर के अपोजिट रोल में पति ऋषि कपूर ही थे। हाल ही में ऋषि कपूर की लम्बी बीमारी के निधन हो गया। नीतू सिंह और ऋषि कपूर के दो बच्चे हैं- बेटी रिद्धिमा और बेटा रणबीर कपूर।