साउथ की मशहूर अभिनेत्री विजयलक्ष्मी ने की आत्महत्या करने की कोशिश, कहा- कुछ समय में मर जाऊंगी

अभिनेत्री विजयलक्ष्मी ने राजनीतिक दबाव के चलते आत्महत्या करने की कोशिश की. इससे पहले भी 2006 में आत्महत्या की कोशिश कर चुकी हैं.

साउथ की मशहूर अभिनेत्री विजयलक्ष्मी ने आत्महत्या करने की कोशिश की. फ़िलहाल उन्हें बचा लिया गया है. उनको चेन्नई के नज़दीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इलाज चल रहा है. विजयलक्ष्मी ने मानसिक तनाव के चलते आत्महत्या की कोशिश की.

विजयलक्ष्मी ने आत्महत्या के लिए ब्लडप्रेशर की कई गोलियां एक साथ खा लीं, जिससे उनका बीपी लगातार लो होता चला गया. तबीयत बिगड़ती गई. हालांकि अब वो सही सलामत हैं.

विजयलक्ष्मी ने खुदकुशी की कोशिश से पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी शेयर किया था. जिसमें उन्होंने बताया था कि वो किस कदर मानसिक तनाव से गुजर रहीं थी. उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया पर उन्हें लगातार निशाना बनाया जा रहा था जिससे वो काफी मानसिक तनाव से गुजर रही थीं. जिंदगी से काफी परेशान हो गई थीं.

वीडियो को सोशल मीडिया से हटा दिया गया है.

विजयलक्ष्मी के मुताबिक़ उन्होंने यह कदम नाम तमिलार पार्टी और इसके नेता सीमान के फॉलोअर्स के सोशल मीडिया पर छींटाकशी से परेशान होकर उठाया. उन्होंने पॉलिटिशियन हरि नादर पर यह कदम उठाने के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है.

आगे बताया कि इस पार्टी के नेता उन्हें काफ़ी दिनों से परेशान कर रहे हैं. इन सब से छुटकारा पाने के लिए वो आत्महत्या करना चाहती थीं. ये नेता उनको जीने नहीं दे रहे हैं.

बता दें विजयलक्ष्मी ने इससे पहले साल 2006 में ख़ुदकुशी करने की कोशिश कर चुकी हैं. नींद की गोलियों का ओवरडोज ले लिया था. तब उन्होंने यह कदम एक असिस्टेंट डायरेक्टर से परेशान होकर उठाया था, जो उनसे शादी करना चाहता था. यह आदमी ज़बरदस्ती विजयलक्ष्मी के पीछे पड़ा था. शादी करने के लिए कॉल करके परेशान करता था. इन सब से तंग आ कर उन्होंने यह क़दम उठाया था.

आत्महत्या की कोशिश करने से पहले रविवार को विजयलक्ष्मी ने फेसबुक पर एक वीडियो पोस्ट किया. इस वीडियो में वो कह रही है कि, ”ये मेरा आखिरी वीडियो है. मैं पिछले चार महीनों से सीमान और उसके पार्टी के लोगों के चलते बहुत ज्यादा तनाव में हूं. मैंने बहुत कोशिश की कि मैं अपने परिवार के लिए जिंदा रहने की कोशिश करूं, लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा है.

विजयलक्ष्मी आगे कहती हैं कि “मुझे हरि नादर ने मीडिया में बहुत ज्यादा अपमानित किया है. मैंने ब्लडप्रेशर की गोलियां खा ली हैं. कुछ समय में मेरा ब्लड प्रेशर एकदम कम हो जाएगा और मेरी मृत्यु हो जाएगी.

विजयलक्ष्मी ने अपने फैन्स से कहा कि जो यह वीडियो देख रहे हैं, मैं उन फैन्स को बताना चाहती हूं कि सिर्फ कर्नाटक में पैदा होने की वजह से सीमान ने मुझे प्रताड़ित किया. महिला होने के नाते मैंने यह सब बर्दाश्त करने की बहुत कोशिश की. लेकिन अब मुझसे यह दबाव सहा नहीं जा रहा है. और कितना कष्ट सहूं?

आगे बताती हैं कि वो  पिल्लई समुदाय से हैं. यह वही समुदाय है, जिससे लिट्टे (एलटीटीई) के नेता प्रभाकरण भी हैं. सीमान आज जो है, वो प्रभाकरण की बदौलत ही है. लेकिन अब वो लगातार सोशल मीडिया पर मेरा हरेसमेंट कर रहे हैं.

अपने मानसिक तनाव का ज़िक्र करते हुए कहती हैं “तुमने मुझे दर्द का अहसास कराने के लिए शर्मिंदा किया और अब यह मुझे तय करना है कि तुम्हारे द्वारा इस तरह अपमानित होने के बाद मुझे क्या करना है?”

आगे कहती हैं कि उनकी मौत लोगों के लिए एक उदाहरण होना चाहिए. फिर किसी और इंसान को इस तरह कोई परेशान न कर सके. उन्होंने अपने फैंस से अपील की कि सीमान और हरि नादर जैसे लोगों को बख्शा ना जाए. उनका मानसिक शोषण करने के लिए इन लोगों को सख्त से सख्त सज़ा मिले.

अभिनेत्री विजयलक्ष्मी ने तमिल और मलयालम फ़िल्मों में काम किया है. साउथ की मशहूर अभिनेत्रियों में से एक हैं. साल 2008 में आई तमिल फ़िल्म ‘वाज्तुगल’ में विजयलक्ष्मी ने बेहतरीन अभिनय किया था. इस फ़िल्म में अभिनेता आर. माधवन थे. इसके अलावा 2003 में आई फ़िल्म ‘रामचंद्र’ में सत्यराज के अपोजिट काम किया.

कन्नड़ में मोहनलाल के साथ 2000 में आई फ़िल्म ‘देवदूतम’ में काम किया है. 2017 में उनकी आखिरी तमिल फिल्म ‘मीसाया मुरुक्कू’ है, जिसमें उन्होंने अभिनेत्री के रूप में काम किया. वहीं, कन्नड़ फ़िल्मों में वो आखिरी बार 2018 में आई फ़िल्म ‘फाइट’ में नजर आई थीं.