सुशांत मामले की जांच करने गई बिहार पुलिस मुंबई से लौटी, पटना एसपी अभी भी हैं क्वारैंटाइन

रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) के पूर्व एजेंट एन के सूद ने सुशांत मामले में अंडरवर्ल्ड का हाथ होने का दावा किया है
रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) के पूर्व एजेंट एन के सूद ने सुशांत मामले में अंडरवर्ल्ड का हाथ होने का दावा किया है

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की 14 जून को उनके मुंबई के बांद्रा के अपार्टमेंट में मौत हो गई. इस मामले की जांच मुंबई पुलिस कर रही थी, लेकिन मामले में संदेह के चलते बिहार पुलिस भी जांच के लिए मुंबई पहुंच गई थी.

हालांकि यह मामला अब सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया गया है. इसलिए सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले को लेकर जांच करने गई चार सदस्यीय पटना पुलिस टीम आज बिहार वापस पटना लौट आई है. मगर टीम की मदद करने के लिए मुंबई गए पटना के नगर पुलिस अधीक्षक आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी फिलहाल मुंबई में अभी भी क्वारैंटाइन हैं.

बिहार पहुंची पुलिस की टीम के सदस्यों ने बताया कि वहां बिल्कुल प्रतिकूल परिस्थितियां थीं. कोई सहयोग करने के लिए तैयार नहीं था. फिर भी इस मामले में जो भी साक्ष्य मिला है, वह इकट्ठा कर लिया गया है.

आगे कहा कि जितना समय मिला, उतना छानबीन किया गया. थोड़ा समय और मिल जाता, तो बेहतर होता. उन्होंने कई सबूत इकट्ठें किए हैं.

वे कहते हैं “पटना से सभी वरिष्ठ अधिकारियों का भरपूर सहयोग मिला.”

उनके मुताबिक मुंबई गई टीम अपनी रिपोर्ट पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उपेंद्र शर्मा को सौंपेगी. इसके अलावा टीम के सदस्य पटना रेंज के पुलिस महानिरीक्षक संजय कुमार से भी मिलेंगे और जांच संबंधी जानकारी देंगे.

बता दें सुशांत के पिता के. के. सिंह ने रिया के खिलाफ बिहार पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी. सुशांत के परिवार ने जो रिया चक्रवर्ती के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया, उसके मद्देनजर ईडी यह कार्यवाई कर रही है. कुल 15 करोड़ रुपये के लेनदेन के मामले की जांच कर रही है.

अभिनेता की मौत से पहले सुशांत और रिया एक रिश्ते में थे. सुशांत के पिता ने रिया के खिलाफ कई आरोप लगाए हैं, जिसमें उनके बेटे से पैसे लेना और मीडिया को उसकी मेडिकल रिपोर्ट का खुलासा करने की धमकी देना भी शामिल है. सुशांत के परिवार ने रिया पर सुशांत को उनसे दूर रखने का भी आरोप लगाया है.

प्रवर्तन निदेशालय कुल 15 करोड़ रुपये के लेनदेन के मामले की जांच कर रही है, जो कथित तौर पर सुशांत सिंह की ‘आत्महत्या’ से संबंधित है.

बिहार के पटना के राजीवनगर थाना में सुशांत के पिता के.के.सिंह ने 25 जुलाई को मामला दर्ज कराने के बाद हरकत में आई पटना पुलिस की चार सदस्यीय टीम 27 जुलाई को मामले की जांच करने मुंबई गई थी. इसके बाद पटना के सिटी एसपी विनय तिवारी को भी मुंबई भेजा गया था,  मुंबई पहुंचते ही उन्हें बीएमसी ने क्वारंटीन कर दिया गया था. अबतक उन्हें नहीं छोड़ा गया है.

बीएमसी की इस हरकत का बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने निंदा की है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नाराजगी जताते हुए कहा कि यह अच्छा नहीं हुआ. बिहार पुलिस सिर्फ अपना काम कर रही है. इसे राजनीति से नहीं जोड़ा जाना चाहिए. हमारे अधिकारी विनय तिवारी को वापस बिहार भेजा जाए.

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने भी बीएमसी की इस हरकत की निंदा की है. बिहार सरकार बीएमसी के इस रवैैये पर सख्ती बरतने जा रही है. बिहार सरकार के मुताबिक वह बीएमसी के इस हरकत के खिलाफ कोर्ट जाने की तैयारी कर रही है.