स्वानंद किरकिरे ने शुरू की गीतकारों का हक़ दिलाने की मुहिम, Gaana, Saavn, Spotify नहीं दे रहे गाने का क्रेडिट

स्वानंद किरकिरे को लगे रहो मुन्ना भाई और 3 ईडियट्स के लिए क्रमशः साल 2006 और 2009 में सर्वश्रेष्ठ गीतकार का राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार मिल चुका है।

Swanand Kirkire twitter filmbibo

एक मिनट के लिए सोचिए कि यहाँ आपको यह ख़बर बहुत ज्यादा पसन्द आती है लेकिन इसमें कहीं भी इसे लिखने वाले का नाम नहीं दिया जाए! आपको पता ही न चले कि आपको जो ख़बर इतनी अच्छी लगी उसे लिखना किसने था? क्या आप ऐसी कोई किताब पढ़ते हैं जिसपर लिखने वाले लेखक का नाम ही न हो? अब फिर से सोचिए। अपना पसंदीदा फ़िल्मी गीत सोचिए और उसे लिखने वाले का नाम याद कीजिए! क्या यह आपका हक़ नहीं है कि आपके पसंदीदा गानों को लिखने वाले का नाम आपको बताया जाए!

सर्वश्रेष्ठ गीतकार के तौर पर दो राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार जीते चुके गीतकार स्वानंद किरकिरे यह सवाल अपने ट्विटर पर कल रात से पूछ रहे हैं। Apple Music, Amazon Music, Ganna, Spotify Jio Saavn जैसे म्यूज़िक ऐप कल हो न हो, रॉकस्टार, 3 इडियट और गैंग ऑफ वासेपुर जैसी फ़िल्मों के गानों के साथ संगीतकार का नाम तो दिखाते हैं लेकिन गीतकार नहीं दिखाते।

ऐसा नहीं है कि यह नाइंसाफी केवल नए गीतकारों के साथ हो रही है। स्वानंद किरकिरे ने शैलेंद्र (तीसरी क़सम), लगान (जावेद अख्तर) और ओमकारा (गुलज़ार) के गानों के भी स्क्रीनशॉट शेयर किये हैं जिनमें इन लिरिसिस्ट को क्रेडिट नहीं दिया गया है।

स्वानंद किरकिरे की इस मुहिम को दूसरे गीतकारों से भी सपोर्ट मिल रहा है। मनोज मुंतशिर और आलोक श्रीवास्तव ने उनके समर्थन में ट्वीट किये हैं। आम लोगों से भी स्वानंद किरकिरे को पूरा समर्थन मिल रहा है। उनके ट्वीट को 150 से ज्यादा रीट्वीट और 700 से ज्यादा लाइक्स मिल चुके हैं।

आपको जावेद अख्तर का संसद में दिया गया मशहूर भाषण याद होगा जिसमें उन्होंने लेखकों को फिल्मी गीतों में रायल्टी दिलाने की अपील की थी। लम्बे संघर्ष के बाद ही गीतकारों को रॉयल्टी का अधिकार मिल पाया था। इस मामले में म्यूज़िक कंपनियों को गीतकारों को क्रेडिट देना ही होगा।

फिल्मबीबो इन म्यूज़िक ऐप कंपनियों के आला अधिकारियों से सम्पर्क करने की कोशिश कर रहा है। उनका बयान मिलते ही हम आपके सामने पेश करेंगे।