कंगना ने शिवसेना नेता संजय राउत पर धमकी देने का आरोप लगाया, बोलीं- मुंबई में POK जैसी फीलिंग आ रही है

कंगना लिखती हैं कि अगर मैं असुरक्षित महसूस करती हूं, इसका यह मतलब थोड़ी है कि मुझे बाॅलीवुड इंडस्ट्री और मुंबई से नफरत है.

कंगना ने कहा कि वो 9 सितंबर को मुंबई आ रही हैं, जिसमें हिम्मत हो रोक कर दिखाए.
कंगना ने कहा कि वो 9 सितंबर को मुंबई आ रही हैं, जिसमें हिम्मत हो रोक कर दिखाए.

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही अभिनेत्री कंगना रनौत बॉलीवुड में फैले नेपोटिज्‍म के खिलाफ बेबाकी से बोलती नजर आई हैं. इसके साथ ही बाॅलीवुड के कुछ बड़े प्रोडक्शन हाउस और कुछ एक्टर-एक्ट्रेसेस पर जमकर निशाना साध चुकी हैं.

इसके अलावा उन्होंने इंसाइडर्स और आउटसाइडर्स को लेकर भी अपनी बातें लोगों के सामने रखी हैं. अब कंगना ने संजय राउत पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि उन्होंने कंगना को मुंबई वापस न आने की धमकी दी है. इसके साथ ही कंगना ने कहा कि उन्हें अब मुंबई में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) जैसी फीलिंग आ रही है. यह बात कंगना ने ट्वीट के जरिए कही है.

कंगना ने ट्वीट करते हुए लिखा,

“शिवसेना नेता संजय राउत मुझे खुलेआम धमकी दे रहे हैं. मुंबई वापस न आने के लिए कहा है. मुझे अब मुंबई से पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर जैसी फीलिंग आ रही है.”

इसके बाद कंगना ने एक और ट्वीट करते हुए लिखा,

“मशहूर अभिनेता सुशांत की हत्या के बाद मैंने ड्रग और मूवी माफिया रैकेट के बारे में बात की. अब मुझे मुंबई पुलिस पर जरा भी भरोसा नहीं है, क्योंकि उन्होंने सुशांत की शिकायतों को नजरअंदाज किया. मुंबई पुलिस ने कहा था कि सुशांत ने आत्महत्या की है, जबकि सच्चाई यह है कि सुशांत की हत्या की गई है.”

आगे लिखती हैं “अगर मैं असुरक्षित महसूस करती हूं, इसका यह मतलब थोड़ी है कि मुझे बाॅलीवुड इंडस्ट्री और मुंबई से नफरत है.”

कंगना के समर्थन में भाजपा नेता राम कदम उतरे. उन्होंने कंगना के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा कि संजय राउत की तरफ से इस तरह की धमकी मिलना अत्यंत पीड़ादायक है. महाविकास आघाड़ी ने मुंबई पुलिस पर भी दबाव बनाया है, जिसकी वजह से सुशांत को न्याय मिलने में देरी हो रही है.

आगे लिखते हैं “सुशांत केस से जुड़े बाॅलीवुड-ड्रग्स माफिया को महाराष्ट्र सरकार बचाने की कोशिश कर रही है. मुझे भरोसा है कि कंगना इस तरह की धमकी से नहीं डरने वाली हैं. कंगना ‘झांसी की रानी’ की तरह हैं.”

इसके अलावा कंगना ने एक पोस्ट करते हुए लिखा,

“मैं एक मध्यम वर्गीय परिवार से आती हूं. मेरे पास फैंसी माता-पिता नहीं हैं. हम आम लोग हैं. मेरे और सुशांत जैसे लोगों के लिए अवार्ड वापसी और कैंडल मार्च गैंग के लिए कोई मूल्य नहीं है, वे हमारे लिए कभी नहीं बोलेंगे.”

आपके बता दें, कंगना पिछले कुछ दिनों से अपने लिए सुरक्षा की मांग कर रही हैं. कंगना, केंद्र सरकार और पीएम मोदी से भी मदद मांग चुकी हैं.

कंगना ने कहा कि वो बॉलीवुड के ड्रग लिंक का बारे में बहुत कुछ जानती हैं वो नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की मदद करना चाहती हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें पूरी सुरक्षा चाहिए.

बता दें, अभिनेता सुशांत सिंह की 14 जून को उनके मुंबई स्थित बांद्रा के अपार्टमेंट में मौत हो गई थी. इसकी जांच मुंबई पुलिस कर रही थी. अब यह मामला सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को सौंपी जा चुकी है. सीबीआई की टीम ने जांच भी शुरु कर रही है.

सीबीआई के साथ ईडी भी सुशांत मामले से जुड़े धोखाधड़ी के मामले की जांच कर रही है. कुछ दिन पहले ही जांच के दौरान सुशांत केस में ड्रग्स कनेक्शन की संभावना जताई है. रिया और शैविक का नाम इस ड्रग्स डीलिंग में सबसे ऊपर आया है. ईडी ने रिया चक्रवर्ती के कुछ वॉट्सएप चैट सीबीआई और नारकोटिक्स को सौंपे हैं.

इस मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने रिया चक्रवर्ती, शौविक चक्रवर्ती, जया शाहा, श्रुति मोदी और गौरव आर्या के खिलाफ केस दर्ज किया था. सभी पर नशीली दवाओं और मादक पदार्थ निरोधक अधिनियम (एनडीपीएस), 1985 के तहत मामला दर्ज किया गया था.

इस मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की दो टीमें भी जांच कर रही हैं. पहली टीम ने रिया चक्रवर्ती और रिया के भाई शौविक चक्रवर्ती के घर छापा मारा है. उनके घर से किसी भी तरह का ड्रग्स बरामद नहीं हुआ है. रिया और शैविक को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो पूछताछ के लिए अपने साथ ले गई है.

एनसीबी की दूसरी टीम, सैमुअल मिरांडा के घर छानबीन के लिए गई थी. एनसीबी ने सैमुअल को हिरासत में ले लिया है. इन पर नशीली दवाओं और मादक पदार्थ निरोधक अधिनियम (एनडीपीएस), 1985 के तहत मामला दर्ज था.