आनंद बक्शी: मृत्यु से साल भर पहले तक लिखते रहे हिट गीत

गीतकार आनन्द बक्शी का जन्म 21 जुलाई 1930 को रावलपिण्डी में हुआ था। 1947 में भारत विभाजन के बाद उनका परिवार 1947 में दिल्ली आ गया। फ़िल्मों में आने से पहले बक्शी भारतीय सेना में काम करते थे। उन्हें फ़िल्मों में पहला ब्रेक 1958 में मिला। 1965 में आयी फिल्म ‘हिमालय की गोद’ में उनकी गीतकार के तौर पर पहली बड़ी हिट फिल्म थी। उसके बाद जब जब फूल खिले और मिलन जैसी फिल्मों के सुपरहिट गीतों ने सिनेजगत के टॉप गीतकारों में ला खड़ा किया। 1970 के दशक में राजेश खन्ना पर फिल्माए गये आनन्द बक्शी के गीतों ने तो उन्हें स्टार गीतकार बना दिया। 30 मार्च 2002 को आनन्द बक्शी ने दुनिया को अलविदा कह दिया। अपनी मृत्यु से एक साल पहले ही उनकी लिखे गीतों से सजी फ़िल्म ‘गदर: एक प्रेम कथा” के गीत सुपरहिट हुये थे।