कोरोना लॉकडाउन में बढ़ी बेवफाई?

इस lockdown में क्या हम तुम का प्यार हो हो गया कुर्बान ,घर बना ऑफिस बेडरूम बना केबिन जहाँ रहती है एक खिड़की जिसके रास्ते दिल हिचकोले मार रहा है लाइफ में अगर रोमांस है गुम , दिल का सूनापन सता रहा है ,इसका मतलब आप अकेले नहीं है ,एक्सपर्ट्स की माने तो वरचुअल अफेयर कोविद उन्नीस के बोरडम को कम रहा है डॉ संजू गंभीर कहती है की तरह तरह के एप्स पर लोग जादा जा रही हैं . नोमान शौक़ शायर फरमाते हैं मेहनत के बराबर न हो उजरत (मेहनताना) तो मज़ा क्या बस एक मोहब्बत के लिए दिल न हुआ जाए **** मिलता नहीं जहां में कोई काम ढंग का इक इश्क़ था सो वह भी क‌ई बार कर चुके कोरोना प्यार का मौसम है जिसके कई रंग है जिसमे से एक है ये है किस् लेस प्यार कैरोना प्यार का मौसम है ज़रा संभल के …..