कोरोना लॉकडाउन के दौर में बिरेन्द्र ढिल्लों और शमशेर लाए हैं रूह को सुकून देने वाला सूफियाना अरदास

Covid-19 (Coronavirus) की वजह से पूरी दुनिया में लॉकडाउन होने के बाद अवसाद और नकारात्मक विचारों की चपेट में आने की संभावना काफी बढ़ गयी। ऐसे में बिरेंद्र ढिल्लों और शमशेर लहरी ने 25 अप्रैल को एक सूफियाना अरदास पेश किया जो सुनने वालों के दिल को बेहद सुकून देगा। फ़िल्मबीबो से बात करते हुए बिरेन्द्र ने बताया कि उन्होंने यह यूँ ही “बैठे बैठे लिख लिया था।” बिरेंद्र और शमशेर करीब छह सालों से एक दूसरे के साथ हैं और दोनों “संगीत को पवित्र मानते हैं” और इसे उन पर “ऊपर वाले का करम हैं मानते हैं।” आप भी यह गीत सुनिए और संगीत की इस सूफियाना सुकून को महसूस कीजिए।