अभिषेक बच्चन नहीं कर पाए प्रभावित, बहुत खाली समय हो तभी देखें ब्रीद: इन टू द शैडोज

Breathe: into the shadows (ब्रीद : इन टू द शैडोज) अमेज़न प्राइम पर हाल ही में रिलीज़ हुई एक टीवी सीरीज है। इसके जरिए अभिषेक बच्चन और साउथ के फिल्मों में अपनी पहचान बना चुकी नित्या मेनन ने ओटीटी प्लेटफॉर्म पर अपनी एंट्री दर्ज कराई है।

कहानी क्या है यह एक साइको थ्रिलर कहानी है जिसमें अभिषेक बच्चन ने अविनाश सभरवाल और नित्या मेनन ने अभिषेक बच्चन की पत्नी आभा सभरवाल का किरदार निभाया है। अविनाश और आभा की एक बेटी है सिया सभरवाल, जिसका किडनैप हो जाता है और दोनों अपनी बेटी को खोजने के जद्दोजहद में लगे रहते हैं। स्वाभाविक है जब किडनैप हुआ है तो एक पुलिसिया कैरेक्टर भी होगा जिसे निभाया है अमित साध ने।

अमित साध क्राइम ब्रांच के पुलिस इंस्पेक्टर की भूमिका में हैं और वेब सीरीज में उनका नाम कबीर सावंत है। सब मिलकर सिया की खोज में लगे रहते हैं और कहानी आगे बढ़ती है। साथ ही बैकग्राउंड में कुछ कत्ल हो रहे होते हैं। कत्ल क्यों हो रहे होते हैं? क्योंकि अविनाश अग्रवाल के पास एक चिट्ठी आती है जिसमें उनसे कहा जाता है कि अगर वह अपनी बेटी को जिंदा वापस चाहते हैं तो यह कत्ल करना पड़ेगा।

कुछ एपिसोड बाद यह मालूम पड़ जाता है कि अविनाश ने ही अपनी बेटी का किडनैप किया है और वह खुद को चिट्ठी लिखकर कत्ल करने के लिए कहते हैं। इससे यह साफ हो जाता है कि अविनाश को ड्यूल पर्सनालिटी डिसऑर्डर भी है यानी वो एक साथ दो जिंदगी जी रहे होते हैं। इसके बाद सीरीज में आगे यहां से उठे कुछ सवालों का जवाब मिलता है। जैसे कि

1. क्या अविनाश सबरवाल को उसकी बेटी वापस मिलती है?

 2. क्या आभा को मालूम पड़ेगा कि उसकी बेटी का किडनैपर उसका पति अविनाश है?

3. क्या पुलिस पता लगा पाती है कि अविनाश दरअसल दो जिंदगी जी रहा है और वही सिया का किडनैपर है?

4. आखिर अविनाश में डुएल पर्सनैलिटी डिसऑर्डर कहां से आता है और इसका उसके पास्ट से क्या रिश्ता है?

5. और वह जिन लोगों का कत्ल कर रहा होता है वो लोग कौन हैं और इस कत्ल के पीछे का कारण क्या है?